शनिवार, अक्टूबर 1, 2022

मध्य प्रदेश में आज पूरा होगा पांच लाख 21 हजार परिवारों का अपने घर का सपना

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 29 मार्च को दोपहर साढ़ 12 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से मध्य प्रदेश में पीएम आवास योजना-ग्रामीण के लगभग 5.21 लाख लाभार्थियों के गृह प्रवेशम में भाग लेंगे। इस मौके पर प्रधानमंत्री लोगों को संबोधित भी करेंगे।

देश के हर जरूरतमंद परिवार को सभी मूलभूत सुविधाओं के साथ एक पक्का घर उपलब्ध कराने के लिए प्रधानमंत्री का निरंतर प्रयास रहा है। यह इस दिशा में एक और कदम है।

इस कार्यक्रम में पूरे मध्य प्रदेश में नए घरों में शंख, दीप, फूल और रंगोली सहित पारंपरिक उत्सव भी आयोजित किया जाएगा।

मध्य प्रदेश में प्रधानमंत्री आवास योजना- ग्रामीण (पीएमएवाई-जी) के कार्यान्वयन में कई अनूठे और अभिनव कदम देखे जा रहे हैं, जैसे महिला राजमिस्त्री सहित हजारों राजमिस्त्रियों को प्रशिक्षण देना, फ्लाई ऐश ईंटों का उपयोग करना, महिला स्वयं सहायता समूहों (एसएचजी) को सेंटरिंग सामग्री के लिए ऋण प्रदान करने और परियोजनाओं के बेहतर निष्पादन और निगरानी के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग करके उन्हें सशक्त बनाना।

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण केंद्र सरकार द्वारा संचालित योजना है। इस योजना का आरम्भ 25 जून, 2015 को हुआ। इस योजना का उद्देश्य 2022 तक सभी को घर उपलब्ध करना है। इसके लिए सरकार लाखों घरों का निर्माण करवा रही है, जिनका निर्माण 18 लाख घर झुग्गी झोपड़ी वाले इलाके में बाकि 2 लाख शहरों के गरीब इलाकों में किया जायेगा।

सरकार ने इस योजना को 3 फेज में विभाजित किया है। पहला फेज अप्रैल 2015 को शुरू किया था और जिसे मार्च 2017 में समाप्त कर दिया गया है इसके अंतर्गत 100 से भी अधिक शहरों में घरों का निर्माण हुआ है। दूसरा फेज अप्रैल 2017 से शुरू हुआ है इसमें सरकार ने 200 से ज्यादा शहरों में मकान बनाने का लक्ष्य रखा था।

लोकप्रिय

NewsExpress