अग्निपथ योजना की वो सच्चाई जिसे जानने के बाद आप नहीं कर पाएंगे इसका विरोध

Protests Over Agnipath Scheme: अग्निपथ योजना को लेकर देश में जो बवाल मचा हुआ है उसकी उम्मीद शायद सरकार ने भी नहीं की होगी। पूरा देश आज अग्निपथ योजना की आग में झुलस रहा है। दर्जनों राज्य इस हिंसक प्रदर्शन की चपेट में हैं। सरकारी संपत्ती, ट्रेनों और बसों को जलाया जा रहा है। इस खबर से पहले सबसे बड़ा सवाल न्यूज एक्सप्रेस केंद्र सरकार से करना चाहता है, कि क्या वाकई इन जैसे उग्र और प्रदर्शनकारी युवाओं की जिंदगी बनाने के लिए सरकार ने ये अग्निपथ योजना लॉन्च की है। आज की हमारी खबर देश की आखों पर डाली गई काली पट्टी को हटाने का एक प्रयास मात्र है… हमारी कोशिश रहेगी कि आपको सही और गलत में फर्क समझा सके। आइए चलते हैं खबर की ओर…


ये भी पढ़े- Agnipath Scheme: अग्निपथ योजना पर केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, अब 23 साल तक के युवाओं की होगी भर्ती


17 साल की वो उम्र जिसमें एक युवा या तो अपनी 12वी की पढ़ाई पूरी कर चुका होता है, या किसी चाय की टपरी पर बैठकर ये ज्ञान दे रहा होता है कि सरकार कैसे चलती है। उस उम्र के युवाओं को देश के प्रति लगाव बढ़ाने, प्रेम जगाने और सुरक्षा जैसे मुद्दों को बढ़ावा देने के लिए सरकार अग्निपथ योजना लॉन्च करती है। सिर्फ इसलिए ताकि भारत के जो युवा अपने देश के लिए कुछ कर गुजरने का जज़्बा रखते हैं, उनको बढावा मिल सके। जो युवा बेरोजगारी के रोने रोते हैं उनको रोजगार मिल सके, जो युवा अपने माता पिता का सर फक्र से उठाना चाहते हैं उनको जरिया मिले, लेकिन वही युवा आज क्या कर रहे हैं??


ये भी पढ़े- क्या है अग्निपथ योजना? क्यों हो रहा विरोध? और कैसे होगी भर्ती? जानिए सबकुछ


अग्निपथ योजना को पूरा जाने बगैर विपक्षी पार्टियों की बात में आकर और शिक्षा के अभाव में यही युवा आज सड़कों पर हैं, और उस योजना का विरोध कर रहे हैं जो उनको जीने की एक राह दिखा रही है। एक सवाल उन युवाओं से भी है जिनका इस देश को आग में झुलसाने में बड़ा सहयोग है। अगर सरकार ये योजना नहीं लॉन्च करती तब क्या करते?

1. क्या तब भी आप लोग 12वी की मार्कशीट दिखाकर बिना किसी हुनर के 21हजार रूपये की सैलरी कमा सकते थे, जोकि साल दर साल बढ़ रही होती?
2. क्या तब आप खुदके माता पिता का सर फक्र से उठा सकते थे?
3. क्या तब भी आप खुदको सेना का जवान कहलवा सकते थे?

सवाल तो बहुत हैं, लेकिन जो युवा आज इस देश की सरकारी संपत्ति को नुकसाल पहुंचा रहे हैं, ऐसा करके वह किसका नुकसान कर रहे है सरकार का? जी नहीं सरकार आज भी आपकी जेब से ही हर नुकसान की भरपाई करवाती है और कल भी ऐसा ही होगा। जिनती ट्रेने जलेंगी, जितना देश जलेगा उतना पैसा आपकी जेब से जाएगा। अगर इतना समझाने के बाद भी आप नहीं समझ सके हैं तो आइये इस योजना की सच्चाई भी अच्छे से समझ लीजिए.।


ये भी पढ़े- अग्निपथ योजना की हुई घोषणा, सेना में चार साल के लिए भर्ती होंगे युवा


अग्निपथ योजना की पूरी जानकारी
सबसे पहले तो ये समझ लीजिए कि अग्निपथ योजना आर्मी की है, दिमाग में डाल लीजिए इस बात को… क्योंकि भर्ती के बाद आप अग्निवीर बाद में पहले सेना के जवान होंगे। 17 से 23 साल के युवाओं की भर्ती… जिसमें की रहना फ्री, खाना फ्री… यानी जिस उम्र में आज के युवा पिज्जा बर्गर खाकर अपने शरीर और पैसा दोनों का नुकसान करते हैं, उस उम्र में सरकार आपको देश के प्रति वफादारी, लगाव और सुरक्षा के मुद्दे सिखाने के साथ ही आपकी लाइफस्टाइल में पौष्टिक आहार जोड़ देती है, मेहनत करना सिखाती है और आपकी उम्र को 10 साल तक बढ़ा देती है एक अच्छे डेली रूटीन की बदौलत।

अब जो युवा ये सवाल करते हैं की सैलेरी कम है या 4 साल बाद उनका भविष्य क्या होगा, वह ध्यान से पढ़ें…

आपको अंदाजा भी नहीं की इन चार साल में सरकार आपको क्या दे रही है। अग्निवीरों की पहले साल में हर महीने की सैलरी 30 हजार होगी, जिसमें से 9 हजार रुपये अग्निवीर कॉपर्स फंड में जमा होगा। इतनी ही राशि सरकार अंशदान करेगी। ठीक इसी तरह दूसरे साल 33 हजार सैलरी इन हैंड 23,100 रुपये, अग्निवीर कॉपर्स फंड में 9,900 रुपये प्रति माह। तीसरे साल और चौथे साल की सैलरी क्रमश: 36,500 और 40.000 रुपये होगी। जो इन हैंड 25,580 और 28,000 होगी। वहीं अग्निवीर कॉपर्स फंड में 10,950 और 12,000 जमा होगा। हर महीने ये राशि जमा होती रहेगी जो चार साल के बाद मिलेगी।


ये भी पढ़े- तेलंगाना के सिकंदराबाद में प्रदर्शन के दौरान एक की मौत, पूरे देश में भयंकर रूप ले चुका है Agnipath Scheme Protest


कुल मिलाकर बात की जाए तो एक अग्निवीर को 4 साल के करियर में इन हैंड सैलरी 9 लाख 45 हजार 360 रुपये मिलेगी। वहीं 5 लाख 07 हजार अग्निवीर कॉर्पस फंड और इतना ही सरकार देगी, जो 4 सैलरी के साथ कुल मिलाकर अंत में रिटायरमेंट की 11 लाख 71 हजार रुपये बैठता है। अब आप बताइए क्या 12वी करने का बाद आप 4 साल में इतना कमा सकते हैं?

अब बात करें आगे के करियर की तो केंद्र सरकार मंगलवार को एलान कर चुकी है कि वह सेना में अग्निपथ स्कीम के तहत चुने गए युवाओं को चार साल पूरे करने के बाद 25 प्रतिशत युवाओं को परमानेंट करेगी। वहीं अन्य को सीएपीएफ और असम राइफल्स जैसे बलों में 10 फीसदी आरक्षण मिलेगा। इसके अलावा सीएपीएफ और असम राइफल्स में निर्धारित ऊपरी आयु सीमा से 3 साल की छूट देने का भी फैसला किया है। अग्निवीर के पहले बैच के लिए, आयु में छूट निर्धारित ऊपरी आयु सीमा से 5 वर्ष के लिए होगी। इसी के साथ ही अन्य राज्यों ने भी अलग-अलग पैकेज का ऐलान किया है।

अब इतना सब जानने के बाद भी अगर युवा इस योजना का विरोध करता है, तो सरकार के पास इस योजना को बंद करने के अलावा और कोई रास्ता नहीं होगा। फिर आप हर साल होने वाली डायरेक्ट भर्ती का इंतजार कर सकते हैं। उसके बाद ना जाने कितना वक्त जॉइनिग के लिए इंतजार करिए और फिर अगर ना हो तो आगे के फ्यूचर में क्या करना है ये सोचिए… या फिर खुदको बेरोजगार कहलवाकर सरकारी भत्ते पर अपनी जिंदगी गुजारिए… फैसला आपका।

लोकप्रिय

NewsExpress