राज्य स्वास्थ्य योजनाओं के साथ आयुष्मान भारत योजना का विलय: अश्विनी चौबे

0
392
राज्य

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने राज्य सभा मे कहा कि आयुष्मान भारत – प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (एबी-पीएमजेएवाई) एक केंद्र प्रायोजित योजना है। इस समय यह देश के 32 राज्यों और संघ राज्य क्षेत्रों में कार्यान्वित की जा रही है। स्कीम के डिजाइन के अनुसार, एबी-पीएमजेएवाई कार्यान्वित करने वाले राज्य/संघ राज्य क्षेत्र अपनी लागत पर एबी-पीएमजेएवाई के अनुरूप अपनी स्वास्थ्य सुरक्षा योजनाएं प्रचालित कर सकते हैं। इस व्यवस्था के तहत, राज्य/संघ राज्य क्षेत्र स्वास्थ्य लाभ पैकेजों, साझा आईटी मंच और पीएमजेएवाई के पैनलबद्ध अस्पताल नेटवर्क का उपयोग कर सकते हैं।

इस योजना का निधियन केंद्र और राज्य सरकारों के बीच साझा किया जाता है। पूर्वोत्तर राज्यों और हिमालयी राज्यों तथा विधानमंडल वाले संघ राज्य क्षेत्रों को छोड़कर, सभी राज्यों के लिए केंद्र और राज्य के योगदान का अनुपात 60:40 है। पूर्वोत्तर राज्य और हिमालयी राज्यों के लिए, यह अनुपात 90:10 है। ऐसे संघ राज्य क्षेत्र, जहां विधानमंडल नहीं है, प्रीमियम का केंद्रीय अंशदान 100% है।

19,506 करोड़ रुपए लागत की 1.57 करोड़ अस्पताल भर्तियों को एबी-पीएमजेएवाई के अंतर्गत प्राधिकृत किया गया है। इनमें कुछेक राज्यों/संघ राज्य क्षेत्रों द्वारा विस्तारित लाभार्थी आधार के अनुरूप उपयोग डाटा शामिल है। प्राधिकृत अस्पताल भर्ती का स्पेशलिटी-वार ब्यौरा अनुलग्नक में है। राज्य स्वास्थ्य स्कीमों से तुलना के लिए कोई डाटा उपलब्ध नहीं है।

ये भी पढे- शाम की बड़ी खबरें