बंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपये के सिक्के! जानिए खबर का पूरा सच

एक, दो, पांच और 10 रुपये के सिक्के चलन से बाहर होने की खबरें हैं। खबर है कि श्योपुर जिले के विजयपुर में व्यापारी दुकानदार अब इन सिक्कों को लेने से मना कर रहे हैं। और इस सिक्कों के बदले ग्राहकों को चाकलेट थमा देते हैं। लेकिन अगर आप भी एक दुकानदार हैं और आप भी अपने ग्राहकों के साथ ऐसा करते हैं तो सावधान हो जाईए।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआइ) के मुताबिक देश में इन सिक्कों को बंद नहीं किया है। ये सभी सिक्के प्रचलन में हैं। लेकिन श्योपुर जिले के विजयपुर में अब कोई भी दुकानदार एक या दो रुपए के सिक्कों से कोई सामान ही नहीं देता है। ऐसे में जरुरत न होने पर भी ग्राहक को दुकानदार द्वारा दी जाने वाली चॉकलेट लेना पड़ रही है।

इससे पहले भी रिजर्व बैंक ने सिक्का न लेने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के दिशा निर्देश जारी किए थे। वहीं इस मामले में यहां के दुकानदारों का कहना है कि उनके पास सिक्के आ रहे थे, लेकिन वे जब माल मंगाते हैं, तो उन्हें बड़े नोट देने पड़ते हैं। जिससे माल खरीदते हैं, वह सिक्का नहीं लेता। जब बैंक में सिक्का जमा कराने जाते हैं तो बैंक भी सिक्का लेने में आनाकानी करती है। इसलिए एक-दो रुपए के सिक्के लेने में परेशानी होती है।

वहीं लोगों के मुताबिक जब दुकानदार एक या दो के सिक्के नहीं लेता तो उन्हे मजबूरन दुकानदार को बड़े नोट देने पड़ते हैं। और ज्यादा सामान खरीदना पड़ता है। दरअसल सिक्के या नोट को चलन से बाहर करने का अधिकार केवल भारतीय रिजर्व बैंक का है। अगर आरबीआइ ऐसा कोई निर्देश देता भी है तो उन सिक्कों को बैंक में लौटाने के लिए लोगों को समय दिया जाता है।

आरबीआइ के निर्देशानुसार बैंक और व्यापारी सिक्के लेने से मना नहीं कर सकते हैं। बड़े दुकानदारों ने सिक्के जमा कराए हैं, लेकिन वापस कोई नहीं ले जाता। वहीं जो भी भारतीय मुद्रा चलन में है, उसे लेने से कोई भी दुकानदार मना नहीं कर सकता। अगर कोई दुकानदार ऐसा करता है तो लोगों को संबंधित बैंक या पुलिस से उसकी शिकायत करनी चाहिए, जिसके बाद उस दुकानदार के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। और दुकानदार को भारी जुर्माने के साथ ही जेल की हवा भी खानी पड़ सकती है।

लोकप्रिय

NewsExpress