IND vs SA: भारत के इन खतरनाक खिलाड़ियों पर है सबकी नजर, टी-20 सीरीज में रहा शानदार प्रदर्शन

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच 5 मैचों की टी-20 सीरीज का आखिरी मैच बेंगलुरु में खेला गया जो बारिश के कारण रद्द हो गया। बता दें सीरीज के पहले दो मैच में भारत को करारी हार मिली, लेकिन इसके बाद टीम ने जोरदार वापसी करते हुए लगातार दो मुकाबले जीते। ऐसे में अब मैनेजमेंट और लोगों की नज़रे उन खिलाडियों पर है जिन्होने इस सीरीज में धमाकेदार प्रदर्शन किया है। दरअसल सीरीज से टीम इंडिया को 2 खतरनाक बॉलर्स मिले हैं। भविष्य में ये गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी की जगह ले सकते हैं। तो वहीं कार्तिक और पंड्या का भी शानदार प्रदर्शन रहा ।

ले सकते हैं जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी की जगह

जसप्रीत बुमराह साउथ अफ्रीका के खिलाफ सीरीज में नहीं खेल रहे थे, ऐसे में उनकी जगह टीम में शामिल हुए हर्षल पटेल ने कमाल का खेल दिखाया। वह टीम इंडिया के लिए सबसे बड़े मैच विनर बनकर उभरे। हर्षल पटेल साउथ अफ्रीका के खिलाफ सीरीज में भारत की तरफ से सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज थे। उन्होंने 4 मैचों में 7 विकेट हासिल किए।

इस बात में कोई दो राय नहीं है कि मोहम्मद शमी की गैरमौजूदगी में आवेश खान ने अपने खेल से सभी का दिल जीत लिया। आवेश धीमी गति की गेंदों पर बहुत ही जल्दी विकेट चटका देते हैं। अब भारत को टी20 क्रिकेट में एक ऐसा गेंदबाज मिल गया है, जो उन्हें अकेले अपने दम पर मैच जिता सकता है। आवेश खान साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले तीन टी20 मैचों में एक भी विकेट हासिल नहीं कर पाए थे, लेकिन चौथे मैच में उन्होंने चार ओवर में 20 रन देकर 4 विकेट चटकाए और आलोचको को करारा जबाव दिया है।

कार्तिक और पंड्या की धुआंधार पारी
साउथ अफ्रीका के खिलाफ राजकोट में खेले गए चौथे टी-20 में दिनेश कार्तिक और हार्दिक ने धुआंधार पारी खेल कर टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई। दोनों के बीच 35 गेंदों पर 65 रन की पार्टनरशिप हुई। कार्तिक ने 27 गेंदों में 55 रन बनाए। वहीं, हार्दिक ने 31 गेंदों में 46 रनों की शानदार पारी खेली।

बता दें दिनेश IPL से ही फिनिशर की भूमिका में कमाल कर रहे हैं। उन्होंने साउथ अफ्रीका के खिलाफ सीरीज में 46 की औसत से 92 रन बनाए हैं। उनका स्ट्राइक 158.62 का रहा है। वहीं, हार्दिक पंड्या के बल्ले से सीरीज में 153.94 की स्ट्राइक रेट से 117 रन निकले हैं। इन दोनों की वापसी से टीम का मध्यक्रम बहुत मजबूत हुआ है। इस साल होने वाले वर्ल्ड कप में दोनों खिलाड़ियों की अहम भूमिका हो सकती है। हार्दिक तो गेंदबाजी से भी योगदान दे सकते हैं।

लोकप्रिय

NewsExpress