जानिए इस साल की बजट पर विपक्ष की प्रतिक्रिया

0
565

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में 2021-22 का बजट पेश किया। बजट पर विपक्ष के कई बड़े नेताओं की प्रतिक्रिया आ रही है।

लोकसभा में विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि, हमें उम्मीद थी कि असाधारण स्थिति में जब बजट पेश होगा तो इसमें असाधरण कदम उठाने की झलक मिलेगी। लेकिन सरकार असाधारण स्थिति में बड़े साधारण और निजीकरण की राह पकड़ कर खुद को बचाना चाहती है।

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि बजट में केंद्र सरकार ने दिल्ली के साथ धोखा किया है। दिल्ली को सिर्फ 325 करोड़ रुपये दिए हैं। दिल्ली को पिछले 17 सालों से केंद्र सरकार 325 करोड़ रुपये देती आई हैं। एक रुपये भी नहीं बढ़ाया। उम्मीद थी कोरोना काल में पैसा बढ़ाकर दिया जाएगा।

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह बजट देश निर्माण के लिए नहीं था बल्कि देश बेचने के लिए था। आप जानते हैं कि कई संस्थानों की संपत्तियों को बेचा गया। जितनी संपत्तियां बची है उसे निजी क्षेत्र को देने की तैयारियां चल रही है। आम नागरिकों की कमर तोड दी गई। चंद लोगों का ख्याल इस बजट में रखा गया है।
सपा नेता अखिलेश यादव ने कहा कि इस बजट ने उन सभी प्रदर्शनकारी किसानों को क्या दिया? बीजेपी हमेशा कहती थी कि वो आय दोगुनी करेगी, क्या इस बजट से किसानों की आय दोगुनी हो रही? हमारे युवा जो पढ़ाई करना चाहते हैं उनके लिए काम, रोज़गार के लिए इस बजट में क्या व्यवस्था की गई है, क्या इनको रोज़गार मिलेगा।

read it tooबजट 2021 : रेलवे के लिए रिकॉर्ड 1,10,055 करोड़ रुपये परिव्यय की योजना, इसमें से 1,07,100 करोड़ रुपये पूंजीगत निवेश के लिए आवंटित