कनाडा के पीएम को भारत सरकार का जवाब, कहा ये हमारा आंतरिक मामला

0
301

भारत में कृषि आंदोलन के खिलाफ लगातार प्रदर्शन हो रहे हैं, जिसे लेकर कनाडा के कई नेताओं के तरफ से बयान सामने आए। कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने भी इस मामले पर टिपण्णी की थी। अब इस पर भारत सरकार के तरफ से प्रतिक्रिया आई है। भारत सरकार के तरफ से ऐसे बयानों को गैरजरूरी करार दिया गया है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने इस मुद्दे पर बयान देते हुए कहा कि हमने किसान आन्दोलनों को लेकर कनाडा के कई नेताओं के बयान सुने हैं। ऐसे बयान गैर जरूरी हैं, वो भी तब जब किसी लोकतांत्रिक देश के आंतरिक मुद्दों से जुड़े हो. साथ ही ये भी जरूरी है कि डिप्लोमेटिक बातचीत को किसी राजनीतिक फायदे के लिए इस्तेमाल किया जाए.

क्या कहा था कनाडा के पीएम ने?

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो ने गुरु नानक जयंती के अवसर पर सिख समुदाय को सम्बोधित करते हुए कहा कि भारत में जो हो रहा है वो चिंताजनक है। हम इसपे नज़रे गराये हुए हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि कनाडा हमेशा से ही शांतिपूर्ण प्रदर्शन का पक्षधर रहा है।

गौरतलब है कि पीएम के अलावा कनाडाई सरकार के कई मंत्रियों के तरफ से और कई अन्य नेताओं के तरफ से भी इस मुद्दे पर बयान सामने आए हैं। इसके अलावा ब्रिटेन के भी कुछ नेताओं ने इस मुद्दे पर टिपण्णी की है।

मालूम हो की कनाडा में एक बड़ी संख्या सिख समुदाय की है, इसलिए अगर पंजाब में कुछ होता है तो उसका असर कनाडा में भी देखने को मिलता है।