मोदी का ‘यूपी वाला प्लान’- बंगाल फतह करने की पूरी तैयारी

0
547
Bengal News

बंगाल चुनाव को लेकर भाजपा ने पूरी तैयारी कर ली है। होने वाले चुनाव में भाजपा के प्रदर्शन की सारी जिम्मेदारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के कंधों पर दी गई है। बंगाल में भाजपा तक मुख्यमंत्री पद का एलान नहीं किया है, कुछ ऐसा ही उत्तर प्रदेश के 2016 में बह भाजपा ने किया था, जब उसने किसी भी मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के नाम की घोषणा नहीं की थी। उस चुनाव में भी प्रधानमंत्री ने ताबड़तोड़ 20 रैलियां की थी। जिसमे उन्होंने 118 सीटों को कवर किया था जिसमे से 80 प्रतिशत सीटों पर भारतीय जनता पार्टी को जीत मिली थी। वजह से भी चुनाव में भारतीय जनता पार्टी नरेंद्र मोदी, अमित शाह और राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा पर निर्भर हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के नेतृत्व में अगले सप्ताह से भाजपा की ताबड़तोड़ रैलियां शुरू हो रही हैं। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह पश्चिम बंगाल, असम और केरल के चुनाव वाले राज्यों में अगले सप्ताह से महीने के अंत तक बड़े पैमाने पर चुनाव प्रचार करेंगे। माना जा रहा है कि यूपी-कर्नाटक और बिहार के फॉर्मूले पर ही भाजपा चलेगी और अधिक सीटों को कवर करते हुए पीएम मोदी की ज्यादा से ज्यादा रैलियों को आयोजित करवाएगी।

समाचार एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पश्चिम बंगाल के पुरुलिया में 18 मार्च को, कोंताई में 20 मार्च को और बकुरा में 21 मार्च को चुनावी रैलियां करेंगे। वहीं, दूसरी ओर अमित शाह 14 और 15 मार्च को बंगाल और असम का दौरा करेंगे। इसके बाद अमित शाह 17 मार्च और 21 और 23 मार्च को असम में चुनावी रैलियां करेंगे। वहीं, बंगाल में वह 19, 26 और 27 मार्च को जनसभा को संबोधित करेंगे। इस बीच 24 और 25 मार्च को वह केरल की यात्रा पर जाएंगे, जहां वह चुनावी रैलियों को संबोधित करेंगे।

अमित शाह के बंगाल में होने वाले दौरे की सबसे प्रमुख बात है कि इस दौरान अमित शाह उन भाजपाई कार्यकर्ताओं के परिवारों से मिलेंगे जिनकी हत्या अमित शाह के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहते हुए बंगाल में कर दी गई थी। अगर आंकड़ों की बात करे तो ऐसे लोगों की संख्या 122 हैं।