एनटीपीसी केदारनाथ कस्बे में नागरिक सुविधाओं के पुनर्विकास में सहायता करेगा

0
278
एनटीपीसी

कम्पनी सामाजिक दायित्व – कॉर्पोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी (सीएसआर) पहल के हिस्से के रूप में, देश की सबसे बड़ी एकीकृत बिजली कंपनी और बिजली मंत्रालय के सार्वजनिक उपक्रम (पीएसयू), एनटीपीसी लिमिटेड ने आज श्री केदारनाथ उत्थान चैरिटेबल ट्रस्ट के साथ 25 करोड़ रुपये की लागत से केदारनाथ कस्बे में नागरिक सुविधाओं के पुनर्विकास के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।

एनटीपीसी के निदेशक (एचआर) श्री डीके पटेल की उपस्थिति में, उत्तराखंड सरकार में पर्यटन सचिव श्री दिलीप जावलकर, आईएएस और एनटीपीसी लिमिटेड के कार्यकारी निदेशक (सीएसआर / आर एंड आर / एलए) श्री एमएसडी भट्टमिश्रा के बीच समझौते पर हस्ताक्षर किए गए।

सीएसआर एनटीपीसी के बिजली उत्पादन के व्यवसाय का एक अभिन्न हिस्सा रहा है और सीएसआर प्रयासों के माध्यम से लाखों भारतीयों के जीवन को रोशन करना इसका लक्ष्य है। यह कंपनी बुनियादी ढांचागत विकास, शिक्षा, सामुदायिक स्वास्थ्य और स्वच्छता, क्षमता निर्माण और महिला-पुरूष आधारित सशक्तिकरण जैसी विभिन्न पहलों का समर्थन कर रहा है।

एनटीपीसी समूह के पास 29 अक्षय ऊर्जा परियोजनाओं सहित 71 पावर स्टेशन हैं। समूह के पास निर्माणाधीन 20 जीडब्ल्यू से अधिक क्षमता है जिसमें 5 जीडब्ल्यू क्षमता वाली अक्षय ऊर्जा परियोजनाएं शामिल हैं। पर्यावरण-अनुकूल ऊर्जा परियोजनाओं के माध्यम से सस्ती कीमतों पर बिजली की निर्बाध आपूर्ति करना एनटीपीसी की पहचान रही है।

Ankit Anand

READ IT TOO- जस्टिस सुनील कुमार अवस्थी ने मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के पद से इस्तीफा दिया