शनिवार, अक्टूबर 1, 2022

समाजवादी पार्टी और सत्य नदी के दो किनारे हैं, ये कभी एक साथ नहीं आ सकते: योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा सत्र के दौरान कहा कि समाजवादी पार्टी और ‘सत्य’ नदी के दो किनारे हैं, जो कभी एक साथ नहीं आ सकते।

विधान सभा के मानसून सत्र के दौरान मुख्यमंत्री ने प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं और कानून व्यवस्था को लचर बताने तथा विपक्षी दलों के आंदोलन और विरोध की आवाज को कुचलने के सपा प्रमुख के आरोप का जवाब देते हुए यह बात कही।

योगी ने कहा, “सपा और सच, नदी के दो किनारे हैं, जो आपस में कभी नहीं मिलते, लेकिन नेता प्रतिपक्ष को सदन में सच बोलने की आदत डालनी चाहिए।”

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में 04 बार सपा की सरकार रही, लेकिन स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर करने की कोई कोशिश नहीं की गई।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर लगाए गए आरोपों का जवाब देते हुए सीएम योगी ने कहा, “उन्हें (सदन में) सच बोलने की आदत डालनी चाहिए।”

अखिलेश पूर्व मुख्यमंत्री हैं, आज मुख्य विपक्षी दल के नेता हैं, जनता को भ्रमित करना, गुमराह करना इन्हें शोभा नहीं देता। सदन में बोलने से पहले नेता प्रतिपक्ष को आंकड़ों का सत्यापन कर लेना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश को 05 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य रखा है, उत्तर प्रदेश ने भी इस लक्ष्य को पूरा करने में सहयोग करते हुए प्रदेश के लिए 01 ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था बनने का संकल्प लिया है।

लोकप्रिय

NewsExpress