यूक्रेन से भारत लौट रहे छात्रों के लिए मुंबई एयरपोर्ट पर बना स्पेशल कॉरिडोर, सारे खर्च उठाएगा CSMIA

0
310
छात्रों
छात्रों

मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे (CSMIA) ने यूक्रेन से आ रहे भारतीय छात्रों के लिए एक स्पेशल कॉरिडोर तैयार किया है। इन भारतीय छात्रों को यूक्रेन से लाया गया है जो फ्लाइंट संख्या AI1944 से शनिवार को रात तक़रीबन 8 बजे मुंबई पहुंचेंगे। CSMIA के प्रवक्ता ने इस बात की जानकारी दी।

CSMIA के प्रवक्ता ने कहा कि, “यूक्रेन में मौजूदा संकट को देखते हुए, वहां फंसे हुए भारतीय छात्रों को निकालने के लिए CSMIA पूर्ण समर्थन दे रहा है, जो आज फ्लाइट संख्या AI1944 द्वारा करीब 20:00 बजे मुंबई पहुंच रहे हैं।”

आने वाले यात्रियों के लिए हवाईअड्डे ने एक विशेष कॉरिडोर को तैयार रखा है। CSMIA के प्रवक्ता ने कहा कि सरकार द्वारा निर्धारित दिशा-निर्देशों के मुताबिक, हवाई अड्डे पर हवाईअड्डा स्वास्थ्य संगठन (APHO) की टीम यात्रियों के टेम्परेचर की जांच करेगी।

सीएसएमआईए के प्रवक्ता ने आगे कहा कि यात्रियों को आगमन के वक्त या तो कोविड​​-19 टीकाकरण प्रमाण पत्र या एक नेगेटिव आरटी-पीसीआर रिपोर्ट दिखाना होगा। यदि कोई यात्री आगमन के वक्त इनमें से कोई भी डॉक्यूमेंट नहीं दिखा पाता है, तो उन्हें हवाईअड्डे पर ही आरटी-पीसीआर टेस्ट करवाना होगा। सीएसएमआईए के प्रवक्ता के मुकाबिक, इस टेस्ट का खर्चा हवाईअड्डे द्वारा ही उठाया जाएगा।

इसके बाद जो भी यात्री टेस्ट के बाद नेगेटिव पाए जाते हैं वे हवाई अड्डे से बाहर जा सकेंगे। यदि किसी यात्री का कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आता है, तो उसे सरकार द्वारा निर्धारित प्रोटोकॉल के अनुसार चिकित्सकीय रूप से मैनेज किया जाएगा।

हवाई अड्डे पर आने वाले यात्रियों के बैठने के लिए एक विशेष क्षेत्र में घेराबंदी की है और उन्हें मुफ्त वाईफाई पासवर्ड दिया जायेगा, भोजन और पानी की बोतलें दी जाएँगी, और आगमन के वक्त यदि आवश्यक हो तो उन्हें चिकित्सा सहायता भी प्रदान की जाएगी।