श्रीलंका ने चीनी वैक्सीन को कहा ‘नो’ भारतीय वैक्सीन का करेंगे उपयोग, क्या है वजह

0
562

कोरोना वायरस से लड़ाई में श्रीलंका ने चीन में बनी साइनोफर्म वैक्सीन के इस्तेमाल को स्थगित कर दिया है। श्रीलंकन सरकार अब अपने 1.3 करोड़ लोगों को भारत में निर्मित आक्सफोर्ड एस्ट्राजेनेका वैक्सीन देगी। कैबिनेट के सहायक प्रवक्ता डा. रमेश पथिराना के मुताबिक, चीन की वैक्सीन साइनोफार्म ने अभी तक फेज-3 के क्लीनिकल ट्रायल पूरे नहीं किए हैं।

पथिराना ने आगे कहा क्हिन की वैक्सीन का अभी पंजीकरण से सम्बंधित पूरा डोजियर भी नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि श्रीलंका अब ज्यादातर सीरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया में निर्मित एस्ट्राजेनेका वैक्सीन पर निर्भर रहेगा। सहायक प्रवक्ता ने कहा, ‘फिलहाल, हमें एस्ट्राजेनेका वैक्सीन के इस्तेमाल की जरूरत है। जब हमें चीन के निर्माता से पूर्ण दस्तावेज प्राप्त हो जाएंगे, हम उसके पंजीकरण पर विचार कर सकते हैं।’

गौरतलब है कि कोरोना महामारी के समय भारत ने खुलकर दुनिया भर के देशों की मदद की है। बीते दिनों हिन्द महासागरीय देशों को भारत ने लाखों की तादाद में वैक्सीन उपलब्ध करवाई थी। इसके अलावा भारत से लाखों की संख्या में बांग्लादेश, भूटान और मॉरीशस समेत कई देशों को वैक्सीन मिल चूका है। सीरम इंसीट्यूट में बने वैक्सीन पर पूरी दुनिया विश्वास कर रही है।