तेजी से बढ़ रहा है टोमैटो बुखार, जाने बीमारी से कैसे करें बचाव

टोमैटो बुखार से आज कल सब लोग डरे हुए है, हलाकि यह बुखार अभी कुछ ही जगह में फैला हुआ है दरअसल टोमैटो बुखार एक दुर्लभ वायरस है, जो सिर्फ बच्चों पर ही हमला करता है। खासतौर पर वो बच्चे जिनकी उम्र 5 साल से कम है। इसमें ज़्यादातर बच्चों को रैशेज़, त्वचा में जलन और डिहाइड्रेशन की समस्या होती है। इस बुखार में बच्चो के शरीर के कुछ हिस्सों में छाले की समस्या भी देखी जाती है।

इस बुखार को टोमैटो फ्लू का नाम इसलिए दिया गया क्योंकि इस संक्रमण में छालें और चकतें होते है जो की टमाटर के जैसे लाल दीखते हैं। अभी तक यह इंफेक्शन सिर्फ केरल के कोवल्लम शहर में ही देखा जा रहा है, लेकिन हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि यह संक्रमण केरल के दूसरे हिस्सों में भी जल्द फैल सकता है।

बीमारी से कैसे करें बचाव

1. संक्रमित बच्चे को खूब पानी पिलाएं। पानी उबला हुआ होना चाहिए, लेकिन पिलाने से पहले इसे ठंडा ज़रूर कर लें।

2. चकत्तों या छालों को नोचने या खुजाने न दें।

3. स्वच्छता बनाए रखना बेहद ज़रूरी है। बरतन, कपड़े और दूसरी चीज़ें जिनका इस्तेमाल रोगी कर रहा है

4. नहाते वक्त पानी को गुनगुना रखें और इसमें ऐसे चीज़ों को मिलाएं जो कीटाणू प्रतिरोधी हो।

5. अगर आपको टोमैटो फ्लू का एक भी लक्षण दिखे, तो इसे नज़रअंदाज़ न करें और फौरन डॉक्टर को दिखाएं।

टोमेटो फ्लू का क्या है इलाज

यह एक ऐसी बीमारी है, जो अपने आप ही ठीक हो जाती है, इसके लिए कोई खास दवाई नही है। डॉक्टर्स का कहना है कि इसके लक्षण अपने आप ही कुछ समय में दूर हो जाते हैं, लेकिन देखभाल भी ज़रूरी है। अगर इसके नाम से आपको लग रहा हो की इस बुखार में टमाटर नही खा सकते तो आपको बता दें कि इस इस बुखार में आप टमाटर खा सकते हैं टमाटर से इस बुखार का कोई लेना देना नही है लेकिन सफाई का खास ख्याल रखे बिना धोये कोई भी चीज ना खाएं ।

लोकप्रिय

NewsExpress