शिवसेना और राज्यपाल के बीच में तकरार बरकरार , अब उद्धव सरकार ने केंद्र से भगत सिंह कोश्यारी को वापस बुलाने की मांग

0
443
शिवसेना

शिवसेना और महाराष्ट्र राज्यपाल के बीच में तकरार लगातार बढ़ता जा रहा है। महाराष्ट्र सरकार ने आरोप लगाया है कि राज्यपाल भाजपा के कहने पर काम कर रहे हैं। शिवसेना ने ये भी कहा कि अगर केंद्र सरकार संविधान को बरकरार रखना चाहती है, तो उन्हें राज्यपाल को वापस बुला लेना चाहिए। शिवसेना का कहना है कि महा विकास आघाडी (एमवीए) सरकार स्थिर और मजबूत है और राज्य सरकार पर निशाना साधने के लिए केंद्र राज्यपाल के कंधे का इस्तेमाल नहीं कर सकता है।

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में लिखा, ”राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी फिर से खबरों में हैं। वह पिछले कई वर्षों से राजनीति में रहे हैं। वह केंद्रीय मंत्री थे और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री भी रहे। बहरहाल, जब से वह महाराष्ट्र के राज्यपाल बने हैं, वह हमेशा खबरों में रहे या विवादों में घिरे रहे।”

कुछ दिनों पहले भी भगत सिंह कोश्यारी और शिवसेना सरकार में तकरार सामने आया था, जब राज्यपाल को सरकारी विमान देने से मना कर दिया। शिवसेना ने कहा था कि राज्यपाल एक निजी यात्रा के लिए उत्तराखंड जा रहे थे, ऐसे में कानून के मुताबिक़ हम उनको विमान नहीं दे सकते थे। जबकि कोश्यारी ने इस मामले पर टिपण्णी देते हुए कहा कि वे निजी यात्रा पर नहीं जा रहे थे, बल्कि किसी सरकारी काम से जा रहे थे।

सम्पादकीय में आगे कहा गया ”राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी फिर से खबरों में हैं। वह पिछले कई वर्षों से राजनीति में रहे हैं। वह केंद्रीय मंत्री थे और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री भी रहे। बहरहाल, जब से वह महाराष्ट्र के राज्यपाल बने हैं, वह हमेशा खबरों में रहे या विवादों में घिरे रहे।”


ये भी पढे: लोकसभा में सरकार पर बरसे अधीर रंजन चौधरी, कहा “सरकार ने जो 370 हटने के बाद वादे किए थे, वो पुरे नहीं हुए”


Subscribe to our channels on Facebook & Twitter and WhatsApp