बुधवार, अगस्त 17, 2022

दुनिया के सबसे अमीर आदमी कहे जाने वाले Elon Musk के खिलाफ मुकदमा दायर करेगा Twitter

ट्विटर एलन मस्क को कोर्ट में घसीटने की तैयारी कर चुका है और कानून जंग का एलान कर दिया है। एलन मस्क ने ट्विटर डील कैंसिल करने की घोषणा तो कर दी लेकिन ट्विटर उन्हें आसानी से छोड़ने वाला नहीं है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ट्विटर ने इसके लिए न्यूयॉर्क की टॉप लीगल फर्म Wachtell, Lipton, Rosen & Karz LLP को हायर किया है। ट्विटर अगले हफ्ते डेलावेयर में मस्क के खिलाफ मुकदमा दायर करेगी। मस्क ने खुद भी इस कानूनी लड़ाई में खुद को बचाने की तैयारी कर ली है। उन्होंने लॉ फर्म Quinn Emanuel Urquhart & Sullivan को हायर किया है।

द हिल के अनुसार ट्विटर के चेयरमैन ब्रेट टेलर ने शनिवार को कहा कि कंपनी का निदेशक मंडल तय मूल्य और शर्तों के अनुसार मस्क से करार तोड़ने पर सहमत है, लेकिन विलय के समझौतों की शर्तों के पालन के लिए मस्क के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की योजना बनाई जा रही है। हमें भरोसा है कि इस कानूनी लड़ाई में हम जीतेंगे। मस्क के खिलाफ डेलावेयर की कोर्ट में केस दायर किया जाएगा।

मस्क ने इस साल जनवरी से ही ट्विटर के शेयर खरीदना शुरू कर दिया था। 14 मार्च को उन्होंने कंपनी में 9।2 फीसदी हिस्सेदारी की घोषणा की। इसके बाद पांच अप्रैल को ट्विटर के भारतीय मूल के सीईओ पराग अग्रवाल ने घोषणा की कि मस्क ट्विटर के बोर्ड में शामिल होंगे, लेकिन 10 अप्रैल को अग्रवाल ने कहा कि मस्क ने बोर्ड में शामिल नहीं होने का फैसला किया है। इसके बाद 14 अप्रैल को मस्क ने पूरी कंपनी को प्रति शेयर 54।20 डॉलर के भाव पर खरीदने की पेशकश की। यह पूरा सौदा 44 अरब डॉलर का था।

जानकारों के मुताबिक एलन मस्क (Elon Musk) ने मुख्य रूप से दो कारणों से अपना मन बदला। पहली वजह यह थी कि टेक शेयरों में हाल में काफी गिरावट आई है। इनमें ट्विटर (Twitter) भी शामिल है। साथ ही टेस्ला (Tesla) के शेयर भी औंधे मुंह गिरे हैं। शुक्रवार को कंपनी का शेयर 752।29 डॉलर पर बंद हुआ। 4 अप्रैल को इसकी कीमत 1,149।91 डॉलर थी। टेस्ला कीमतों में यह गिरावट से मस्क को भी काफी नुकसान हुआ है। मस्क के पास टेस्ला में लगभग 17 करोड़ 50 लाख शेयर हैं। इस गिरावट ने भी ट्विटर को खरीदने की मस्क की योजना को झटका लगा। मस्क बिजनसमैन हैं और उन्हें यह एहसास हो गया था कि ट्विटर को खरीदने से उन्हें फायदा कम और नुकसान ज्यादा होगा। यही वजह है कि उन्होंने फर्जी अकाउंट्स (Fake Accounts) का बहाना बनाकर इससे पिंड छुड़ा लिया।

लोकप्रिय

NewsExpress