विजय सांपला ने आज अनुसूचित जाति के लिए राष्ट्रीय आयोग (एनसीएससी) के अध्यक्ष का पदभार संभाला

0
294

विजय सांपला ने आज नई दिल्ली में अनुसूचित जाति के लिए राष्ट्रीय आयोग (एनसीएससी) के अध्यक्ष (चेयरमैन) का पदभार ग्रहण किया। इस अवसर पर केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर, केंद्रीय मंत्री सोम प्रकाश, एनसीएससी के पूर्व अध्यक्ष और भाजपा सांसद हंसराज हंस और आयोग के अन्य सदस्य उपस्थित थे। विजय सांपला वर्ष 2014-19 के बीच सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय के राज्य मंत्री के रूप में काम कर चुके हैं।

कार्यभार संभालने के बाद, विजय सांपला ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि वह अनुसूचित जाति समुदाय के हितों और अधिकारों की रक्षा के लिए लगातार प्रयास करते रहेंगे। सांपला ने कहा कि आयोग न केवल अनुसूचित जाति समुदाय को न्याय सुनिश्चित करने के लिए काम करेगा, बल्कि समुदाय के साथ किसी भी प्रकार के अन्याय को रोकने के लिए भी सक्रिय रुप से काम करेगा । इसे विस्तार से समझाते हुए उन्होंने कहा कि आयोग अनुसूचित जातियों के सामाजिक-आर्थिक विकास और उनके साथ होने वाली किसी तरह के अत्याचार को रोकने के लिए जरूरी योजनाओं के लिए भागीदारी बढ़ाने और सलाह लेने का काम करेगा।

विजय सांपला केंद्रीय राज्य मंत्री रहने के साथ-साथ पंजाब में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुके हैं । इसके अलावा वह पंजाब दलित विकास परिषद के अध्यक्ष, अनुसूचित जाति आरक्षण बचाओ मंच के राज्य समन्वयक और भारत गौरव के अध्यक्ष रह चुके हैं। उन्होंने साल 2009-12 के दौरान पंजाब खादी और ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष का पद भी संभाला है।इसके अलावा उनके नाम की राष्ट्रपति पुरस्कार के लिए भी सिफारिश की जा चुकी है।

वह पंजाब के “होशियारपुर” निर्वाचन क्षेत्र से 2014 का लोकसभा चुनाव जीत चुके हैं। और 9 नवंबर, 2014 से 24 मई 2019 तक केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता राज्य मंत्री के रुप में काम कर चुके हैं। सांपला वंचित वर्ग, खास तौर से अनुसूचित जातियों के उत्थान और कल्याण में लगातार सक्रिय रहे। भारत के राष्ट्रपति द्वारा अनुसूचित जाति के लिए राष्ट्रीय आयोग का अध्यक्ष नियुक्त किए जाने के बाद उन्होंने आज पदभार ग्रहण किया।