लाल किला से विजय चौक तक भव्य तिरंगा यात्रा, कांग्रेस ने भाजपा पर गुमराह करने का लगाया आरोप

0
123

भारत के स्वतंत्रता के 75 वर्ष होने के उपलक्ष्य में केंद्र सरकार के द्वारा हर घर तिरंगा अभियान चलाया जा रहा है। इसी क्रम में आज दिल्ली में लाल किला से विजय चौक तक तिरंगा यात्रा निकाला गया। यह कार्यक्रम संस्कृति मंत्रालय के द्वारा आयोजित किया गया था। जिसमें सभी दलों के सांसदों को भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया था। लेकिन विपक्ष के सांसदों ने इस तिरंगा यात्रा में हिस्सा नहीं लिया है। तिरंगा यात्रा का शुभारंभ उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने तिरंगा झंडा दिखा कर किया।

लाल किले से विजय चौक तक निकाले गए तिरंगा यात्रा में कई बड़े नेताओं ने भाग लिया। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, केंद्रीय राज्य मंत्री भारती प्रवीण, सांसद मनोज तिवारी सहित कई दिग्गज नेताओं ने तिरंगा यात्रा में भाग लिया है। वहीं, विपक्ष के नेताओ का इस तिरंगा यात्रा में नहीं शामिल होने पर सांसद मनोज तिवारी ने विरोध जताया हैं। उन्होंने कांग्रेस के तिरंगा यात्रा में शामिल नहीं होने के विरोध में संसद भवन परिसर के गेट नंबर 4 पर तिरंगा लहरा कर अपना विरोध जताया और साथ ही कांग्रेस पर तिरंगे का अपमान करने का भी आरोप लगाया है।

हालांकि कांग्रेस सदन नेता प्रतिपक्ष अधीर रंजन चौधरी ने उल्टा ही भाजपा पर आमलोगों को गुमराह करने का आरोप लगा दिया है। उन्होंने कहा कि “भाजपा ने कभी तिरंगा को माना नहीं था। भाजपा आज़ादी के बाद तिरंगा के खिलाफ थी और यह लोग आज तिरंगा सामने रखकर हिंदुस्तान के आम लोगों को गुमराह कर रहे हैं। हिंदुस्तान के लोग जानते हैं तिरंगा मतलब गांधी। इतिहास गवाह है कि आज़ादी की लड़ाई में भाजपा की क्या भुमिका रही है।”

बता दें, भारत के आज़ादी के 75 साल होने पर केंद्र सरकार के द्वारा “आज़ादी का अमृत महोत्सव” मना रही है। इस दौरान 13 से 15 अगस्त तक केंद्र सरकार के द्वारा “हर घर तिरंगा” अभियान चलाएगी। इसके तहत हर घर पर तिरंगा फहराने की योजना है। इसको लेकर भाजपा के सभी नेता और कार्यकर्ताओं के द्वारा इसकी तैयारी किया जा रहा है। मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह समेत भाजपा कई नेताओं ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट का प्रोफाइल पिक्चर बदल कर तिरंगा झंडा लगा लिया है और उन्होंने सभी लोगों से यह अपील की है कि सभी लोग अपने प्रोफाइल पिक्चर पर तिरंगा झंडा लगाए।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here