कांग्रेस के प्रदर्शन पर गृहमंत्री का बड़ा आरोप, कहा- राम मंदिर के शिलान्यास का विरोध

0
116

कांग्रेस ने शुक्रवार को काला कपड़ा पहना कर दिल्ली समेत देश के कई हिस्सों में जमकर प्रदर्शन किया है। अब इस प्रदर्शन को लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस पर बड़ा आरोप लगाया है। उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाया है कि “कांग्रेस ने आज के दिन काला कपड़ा पहन कर इसलिए प्रदर्शन किया है क्योंकि वो राम जन्मभूमि के शिलान्यास का विरोध करते हैं।” बता दें, दो वर्ष पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रामजन्म भूमि पर भव्य राम मंदिर का शिलान्यास किया था।

क्या कहा गृह मंत्री अमित शाह ने?

गृह मंत्री ने कहा कि एक जिम्मेदार पार्टी होने के नाते कांग्रेस को कानून का सहयोग करना चाहिए था। लेकिन वो हर रोज प्रदर्शन कर रहे हैं । आज जो भी कांग्रेस ने किया है, उसमें उन्होंने अपनी तुष्टिकरण की नीति को गुप्त तरीके से आगे बढ़ाया है। उन्होंने आगे कहा कि “आज ED ने न किसी से पूछताछ की और न ही कोई छापा मारा, लेकिन पता नहीं आज क्यों कांग्रेस ने काले कपड़ों में विरोध प्रदर्शन किया। आज ही के दिन पीएम श्री नरेंद्र मोदी ने राम जन्मभूमि मंदिर का शिलान्यास करके 550 वर्ष पुरानी समस्या का शांतिपूर्ण समाधान निकाला था। साथ ही अमित शाह ने कांग्रेस पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि आज का दिन कांग्रेस ने इसलिए काले कपड़ों में विरोध के लिए चुना, क्योंकि वो इसके माध्यम से संदेश देना चाहते हैं कि हम राम जन्मभूमि के शिलान्यास का विरोध करते हैं और अपनी तुष्टिकरण की नीति को आगे बढ़ाना चाहते हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी साधा निशाना

कांग्रेस के प्रदर्शन पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी कांग्रेस को आड़े हाथ लिया है। उन्होंने कहा कि “आज कांग्रेसियों ने काले कपड़े पहनकर प्रदर्शन किया है। श्री राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण की पावन तिथि के दिन यह प्रदर्शन रामभक्तों का अपमान है, अयोध्या दिवस का अपमान है, भारत के लोकतंत्र का अपमान है।”

बता दें, श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने मंदिर निर्माण की प्रगति साझा करते हुए बताया कि राममंदिर निर्माण का काम दिन-रात करीब 500 मजदूर काम कर रहे हैं। गर्भगृह का 20 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। पांच फीट ऊंची महापीठ बनकर तैयार है। प्लिंथ का काम भी सिंतबर तक पूरा हो जाएगा। जल्द ही मंदिर के स्तंभों को भी जोड़ने का काम शुरू हो जाएगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here