रविवार, अक्टूबर 2, 2022

मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास की गिरफ्तार के लिए 18 जगहों पर पुलिस की छापेमारी, करीबियों से हुई पूछताछ

माफिया डॉन मुख्तार अंसारी के बेटे और मऊ से सुभासपा विधायक अब्बास अंसारी पर शस्त्र लाइसेंस के दुरुपयोग को लेकर पुलिस की लगातार नकेल कसी जा रही है। डीसीपी और एडीसीपी की देखरेख में सोमवार रात चार टीमों ने एक साथ 18 जगहों पर छापेमारी की। लेकिन अब्बास नहीं मिला। वह लगातार फरार चल रहा है। जबकि कोर्ट ने उनकी जमानत की अर्जी को खारिज कर दिया है और पुलिस को उसे अरेस्ट करने का आदेश दिया है। पुलिस ने अब्बास के आवास और फ्लैटों पर भी छापेमारी की गई। इसके साथ ही उसके करीबी लोगों के घरों पर भी छापेमारी की है।

जानकारी के मुताबिक जिन लोगों ने अब्बास को शरण दी और फरारी के दौरान मदद की, उनकी लिस्ट पुलिस तैयार कर रही है। इसी के तहत लखनऊ के आलमबाग में मुख्तार के करीबी दोस्त जुगनू वालिया के घर पर भी छापेमारी की गई। लेकिन वह वहां नहीं मिला और इसके साथ ही पुलिस ने उससे जुड़े कई लोगों से पूछताछ भी की। जानकारी के मुताबिक पुलिस ने सोमवार रात लखनऊ, गाजीपुर के अलावा दिल्ली में भी छापेमारी की थी। असल में महानगर कोतवाली में दर्ज इस मामले में पेशी से लगातार गैरहाजिर रहने पर कोर्ट ने वर्ष 2019 में गैर जमानती वारंट जारी किया था।

अब्बास अंसारी की गिरफ्तार के लिए पुलिस ने उनके मेट्रो सिटी स्थित फ्लैट पर छापा मारा। लेकिन वह नहीं मिला। लेकिन पुलिस ने विधायक आवास पर भी नोटिस चस्पा किए हैं। पुलिस ने एडीसीपी उत्तरी अनिल यादव ने चार एसीपी के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया था औल टीम ने सोमवार रात 18 जगहों पर छापेमारी की। इसके साथ ही पुलिस ने मेट्रो सिटी में पांच दिन पुराने सीसी फुटेज भी देखी और स्थानीय लोगों ने बताया कि वह कई दिनों से यहां नहीं आया है। डीसीपी कासिम आब्दी ने बताया कि कॉल डिटेल और अन्य जानकारियों के आधार पर 18 जगहों की पहचान की गई थी और उसी के आधार पर पुलिस ने दबिश दी थी।

लोकप्रिय

NewsExpress